मुख्यमंत्री ने दी आपदा राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अतिवृष्टि एवं अन्य दैवीय आपदा के समय तत्काल राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में दो माह के लिये हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति प्रदान की है।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये है कि जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों के लिए आवश्यकता न हो तब हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में किया जाए।परंतु ऐसा तभी किया जाए जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों में जरूरत नहीं हो।

आपदा में प्रयुक्त घंटों के अतिरिक्त घंटों में हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में करने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रतिव्यक्ति निर्धारित रूपये तीन हजार की किराये की दर को मंजूरी प्रदान की है। इस हैलीकॉप्टर को निर्धारित शर्तों के अधीन दो माह के लिये पिथौरागढ़ में तैनात किये जाने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिये हैं।

 

लापता हुआ दूल्हा इंतजार में बैठी दुल्हन दुल्हन के पिता ने कोतवाली में दी तहरीर

0 3

लाल जोड़ा पहने और हाथों में पिया के नाम की मेहंदी रचाए एक दुल्हन अपने दूल्हे का इंतजार कर रही थी. बारात आने वाली थी. लड़की पक्ष के लोग इंतजार कर रहे थे. लेकिन न तो दूल्हा आया और न ही बारात में कोई और. पता चला कि दूल्हा तो फरार है। दूल्हे के अचानक गायब होने से अफरा तफरी का माहौल हो गया।और सब सोच में पड़ गया आखिरकार बारात बिना दूल्हे के वधू पक्ष के यहां पहुंचे तो कैसे पहुंचे बिना दूल्हे के बारात जाने पर लोग तरह-तरह की चर्चा करेंगे हाथ में मेहंदी लगाई दुल्हन करती रही अपने पिया का इंतजार।

मामला काशीपुर और रामनगर से जुड़ा हुआ है जहां लड़की पक्ष रामनगर से है और लड़का पक्ष काशीपुर से है मुस्लिम रीति रिवाज के साथ एक दूसरे को अपनाया गया और अच्छा सा समय निकालकर शादी का फैसला लिया गया। लेकिन बारात वाले दिन दूल्हा अचानक गायब हो गया इसके बाद परिजनों ने दूल्हे को खूब ढूंढा लेकिन दूल्हा नहीं मिल पाया और दूसरी तरफ दुल्हन हाथों पर पिया के नाम की मेहंदी लगाकर अपने पिया का इंतजार करती रही लेकिन बारात ना आने पर दुल्हन के परिवार वाले भी परेशान हो गए और संपर्क साधा इसके बाद पहले तो बात को गोलमोल करते रहे लड़का पक्ष लेकिन बात कहां रुकती है। कही न कही से पता तो चल जी जाता है, लड़की वालों को भी पता चल गया अब दोनों ही परिवार वाले परेशान चिंतित हैं। और लड़के को ढूंढने की कोशिश की जा रही है। तो दूसरी और दुल्हन के पिता ने कोतवाली पुलिस को तहरीर सौंप कर कार्रवाई करने की मांग की है।दुल्हन के पिता का कहेना है। काशीपुर उधम सिंह नगर क्षेत्र के नई बस्ती विजयनगर निवासी साजिद के साथ तय किया था तथा कुछ माह पूर्व उसकी बेटी की मंगनी भी हो चुकी है उसका आरोप है कि उसने अपना घर बेचकर अपनी पुत्री की शादी के लिए दहेज इकट्ठा किया था साथ ही उसका यह भी कहना है कि 1 अप्रैल को दूल्हा पक्ष को उसके द्वारा दहेज में एक बाइक सहित अन्य घरेलू सामान भी दहेज के तौर पर भेज दिया गया शनिवार को उसकी पुत्री की बारात आनी थी तथा उसने बारात का सारा इंतजाम ग्राम तेलीपुरा रोड स्थित एक बैंकट हॉल में किया था बारात दोपहर में आनी थी इससे पहले वेंकट हॉल में दुल्हन के रिश्तेदारों एवं बस्ती के लोगों ने भी खाना खा लिया लेकिन जब शाम 4:00 बजे तक बरात नहीं पहुंची तो दुल्हन पक्ष की ओर से दूल्हे पक्ष से फोन पर संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि दुल्हा शेरवानी लेने गया है और उसके बाद से वापस नहीं आया हम उसे ढूंढ रहे हैं वही उनका यह भी कहना है कि बारात के लिए करीब 600 आदमियों का खाना भी तैयार किया गया था जो पूरी तरह बर्बाद हो चुका है दुल्हन के पिता का आरोप है कि दूल्हे पक्षी की ओर से दहेज में कर देने की मांग की जा रही थी मांग पूरी न होने के कारण यह लोग बरात लेकर नहीं पहुंचे वही शिकायत मिलने के बाद पुलिस भी हरकत में लिए रामनगर शिव का कहना है कि शिकायती पत्र मिला हो और आरोपी के आधार पर टीम का गठन कर दिया गया मामले की जांच की जा रही है जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.