मुख्यमंत्री ने दी आपदा राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अतिवृष्टि एवं अन्य दैवीय आपदा के समय तत्काल राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में दो माह के लिये हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति प्रदान की है।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये है कि जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों के लिए आवश्यकता न हो तब हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में किया जाए।परंतु ऐसा तभी किया जाए जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों में जरूरत नहीं हो।

आपदा में प्रयुक्त घंटों के अतिरिक्त घंटों में हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में करने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रतिव्यक्ति निर्धारित रूपये तीन हजार की किराये की दर को मंजूरी प्रदान की है। इस हैलीकॉप्टर को निर्धारित शर्तों के अधीन दो माह के लिये पिथौरागढ़ में तैनात किये जाने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिये हैं।

 

राहत कार्यों मे प्रतिस्पर्धा नही बल्कि समर्पण का भाव जरूरी, कांग्रेस अध्यक्ष के आरोप हास्यास्पद  चौहान 

0 28,120

भाजपा ने कांग्रेस के द्वारा चमोली हादसे को लेकर लगाए गए आरोप प्रत्यारोप पर नसीहत देते हुए कहा कि राहत कार्यो मे पीड़ितो तक पहुँचने के लिए प्रतिस्पर्धा नही, बल्कि समर्पित भाव से कार्य करना जरूरी है।

पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा के बयान को हास्यास्पद करार देते हुए कहा कि घटना स्थल पर पहले कौन गया यह सवाल नही, बल्कि पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए तत्काल क्या किया गया। उन्होंने कहा कि घटना के बाद सबसे पहले जो घायल थे उनकी जान बचानी जरूरी थी और उन्हे अस्पताल पहुंचाया गया तो साथ ही कुछ लोगों को एयर लिफ्ट कर ऋषिकेश भेजा गया। प्रदेश अध्यक्ष मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ ही मामले को मॉनिटर कर रहे थे। जहाँ तक कांग्रेस का सवाल है तो ऐसे आरोपों से साफ है कि वह महज वहाँ हाजिरी लगाने की औपचारिकता का निर्वहन करने गए और इसे किस तरह से राजनैतिक तूल दिया जा सके।

चौहान ने कहा कि ऋषिकेश से घायलों को उपचार के बाद चमोली भेजने के लिए वाहन की व्यवस्था पर भी वह निराधार वक्तव्य दे रहे है। 5 घायल लोगों को उनके परिजनों के साथ प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट जी ने निजी व्यय पर प्राइवेट वाहन से भेजा, लेकिन वह इसमे भी राजनैतिक गुंजाइश ढूंढ रहे है। हालांकि दुख की इस घड़ी मे ऐसे कथन से बचा जाना चाहिए।

चौहान ने कहा कि घटना के तत्काल बाद घायलों को अस्पताल पहुंचाने का कार्य शुरू हुआ और मुख्यमंत्री एम्स मे शाम को घायलों और परिजनों से भी मिले। साथ ही घटना की मजिस्ट्रेटी जाँच के भी निर्देश दिये गए। अब तक दो अधिकारी निलंबित किये गए है। राहत राशि घोषित की गयी है, लेकिन कांग्रेस को कुछ नही सूझ रहा है। भाजपा अध्यक्ष मृतकों के परिजनों एवं घायलों के लगातार संपर्क मे हैं और सीएम भी पूरे मामले को मॉनिटर कर रहे है।
चौहान ने कहा कि आपदाग्रस्त क्षेत्रों मे तत्काल राहत कार्य शुरू हो रहे है, और सीएम रात्रि मे भी कंट्रोल रूम से स्थिति का जायजा ले रहे है। संगठन भी राहत कार्यो मे जुटा है और विधायक और सांसदों तक की जिम्मेदारी तक तय की गयी है। लेकिन कांग्रेस इसे भी नही पचा पा रही है। कांग्रेस नेता महज सुर्खियों के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे है और उन्हे आपदा पीड़ितों से कोई लेना देना नही है।
चौहान ने कहा कि अब प्रदेश मे हर घटना पर तत्काल राहत और रेस्पोंस हो रहा है, कांग्रेस को राहत कार्यो मे राजनीति के बजाय हाथ बंटाने के लिए आगे आना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.