मुख्यमंत्री ने दी आपदा राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अतिवृष्टि एवं अन्य दैवीय आपदा के समय तत्काल राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में दो माह के लिये हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति प्रदान की है।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये है कि जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों के लिए आवश्यकता न हो तब हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में किया जाए।परंतु ऐसा तभी किया जाए जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों में जरूरत नहीं हो।

आपदा में प्रयुक्त घंटों के अतिरिक्त घंटों में हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में करने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रतिव्यक्ति निर्धारित रूपये तीन हजार की किराये की दर को मंजूरी प्रदान की है। इस हैलीकॉप्टर को निर्धारित शर्तों के अधीन दो माह के लिये पिथौरागढ़ में तैनात किये जाने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिये हैं।

 

स्वास्थ्य सचिव डॉक्टर आर राजेश कुमार ने चार धाम यात्रा व्यवस्थाओं का लिया जायजा 

0 4

स्वास्थ्य सचिव और प्रभारी सचिव यात्रा डॉ आर राजेश कुमार ने केदारनाथ धाम यात्रा को सुगम और व्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए जिला प्रशासन और विभिन्न विभागों की तैयारियों और सुविधाओं का जायजा लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चारधाम में भारी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने आ रहे हैं। उन्हें कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। प्रभारी सचिव ने जिला प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं और व्यवस्थाओं का भी आंकलन किया, जिससे कमियों को दूर किया जा सके और यात्रियों की यात्रा सुखद संपन्न हो। सिरोबगड़ स्लाइडिंग जोन का निरीक्षण करने के दौरान स्वास्थ्य सचिव ने अधिशासी अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग और जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सिरोबगड में 24 घंटे जेसीबी मशीन तैनात रखने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने चिकित्सालय के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण करते हुए जिला चिकित्सालय में उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि उपचार किसी तरह की शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा के लिए 180 चिकित्सकों को तैनात किया गया है।

यात्रा मार्गों के विभिन्न पड़ावों पर बेहतर सफाई व्यवस्था के निर्देश दिए। पानी और बिजली की व्यवस्थाओं को भी चाकचौबंद करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान स्वास्थ्य सचवि ने रुद्रप्रयाग शहर के विभिन्न प्रतिष्ठानों का निरीक्षण कर सभी होटल व्यवसाय और व्यापारियों से खाद्य सामग्री को खुले में न रखकर इसके लिए उचित प्रबंधन करने के निर्देश दिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.